History Of India's Nuclear Energy Program


Nuclear Power Plants and Atomic Research Centres
Nuclear Power Plants and Atomic Research Centres






भारत में 1948 में डा. होमी जहाँगीर भाभा की अध्यक्षता में परमाणु ऊर्जा आयोग की स्थापना की गई| इसके बाद ही परमाणु ऊर्जा के क्षेत्र में कई काम हुए|



वर्ष 1954 में परमाणु ऊर्जा विभाग की स्थापना की गई|





वर्तमान में परमाणु ऊर्जा विभाग 3 चरणों में न्यूक्लियर एनर्जी प्रोग्राम चला रहा है



STAGE 1: PRESSURIZED HEAVY WATER REACTORS(PHWR)

इन रिएक्टर्स में प्राकृतिक यूरेनियम को ईंधन के रूप में और Heavy Water को मॉडरेटर या कूलेंट के रूप में प्रयोग किया जाता है


0.7% U-235
विखंडन से गुजरता है। शेष 99% U-238 विखंडन योग्य नहीं होता है, यह परिवर्तित होकर प्लूटोनियम -239 (Pu-239) बनाता है।



STAGE 2: FAST BREEDER REACTORS(FBR)

यह ऐसा परमाणु रिएक्टर है जो खपत होने की तुलना में अधिक fissile material उत्पन्न करता है। ये बिजली उत्पादन के लिए परमाणु ईंधन की आपूर्ति को बढ़ाने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं।



इसमें यूरेनियम-238 से प्लूटोनियम को प्राप्त किया जाता है|



STAGE 3: THORIUM BASED REACTORS

तीसरा चरण थोरियम यूरेनियम-238 cycle पर आधारित है|



थोरियम से यूरेनियम-233 प्राप्त किया जाता है



List of Nuclear Power Plants in India 

1: तारापुर [Boiling water reactor (BWR) & Pressurized heavy water reactor (PHWR)]

स्थान - महाराष्ट्र 

स्थापना वर्ष - 1972 

क्षमता - 1400 मेगावाट


2:
रावतभाटा [Pressurized heavy water reactor (PHWR)]

स्थान - राजस्थान 

स्थापना वर्ष - 1972 

क्षमता -  1180 मेगावाट


3:
कलपक्कम [Pressurized heavy water reactor (PHWR)]

स्थान - तमिलनाडु

स्थापना वर्ष - 1983 

क्षमता - 440 मेगावाट 


4:
नरौरा [Pressurized heavy water reactor (PHWR)]

स्थान - बुलंदशहर, उत्तर प्रदेश

स्थापना वर्ष - 1991 

क्षमता - 440 मेगावाट 

5: काकरापारा [Pressurized heavy water reactor (PHWR)]

स्थान - सूरत, गुजरात

स्थापना वर्ष - 1993 

क्षमता - 440 मेगावाट


6:
कैगा [Pressurized heavy water reactor (PHWR)]

स्थान - कर्नाटक 

स्थापना वर्ष - निर्माणाधीन 

क्षमता - 880 मेगावाट 



7: कुडनकुलम [Water-Water Energetic Reactor (VVER)]

स्थान - तमिलनाडु 

क्षमता - 2000 मेगावाट 



Nuclear Power Plant in India Map

Nuclear Power Plant in India Map


Atomic Research Centres in India

 

1: Bhabha Atomic Reasearch Institute, BARC

* इसकी स्थापना 1957 में मुंबई में की गई थी

* इस केंद्र ने उद्योग, औषधि और कृषि के क्षेत्र में रेडियो आइसोटोप के चिकित्सकीय उपयोगो सहित परमाणु ऊर्जा के शांति पूर्ण उपयोग की टेक्नोलॉजी का विकास किया है

* कनाडा से सहयोग से BARC में CYRUJS Thermal Reacter

की स्थापना की गई है

* Dhruv Reasearch Reacter में रेडियो आइसोटोप को तैयार करने के साथ न्यूक्लियर टेक्नोलॉजी और पदार्थो पर शोध का काम क्या जाता है





2: Indira Gandhi Centre Of Atomic Research, IGCAR

* इसे कलपक्कम तमिलनाडु में वर्ष 1971 में स्थापित किया गया था

* फ़ास्ट ब्रीडर रिएक्टर के सम्बन्ध में रिसर्च कार्य करता है|

* इसका उपयोग अक्सर विभिन्न पदार्थो की रेडियोग्राफी के लिए किया जाता है





3: Informational Technology Centre, ITC 

* इसको 1984 में इंदौर में स्थापित किया गया था

* इसका काम Laser और Accelerator की टेक्नोलॉजी का विकास करना है





4: Variable Energy and Cyclotron Centre, VECC 

* इसकी स्थापना 1977 में कोलकाता में की गई थी

* इस केंद्र में परमाणु भौतिकी, परमाणु रसायनशास्त्र, विभिन्न उद्योगों के लिए रेडियो आइसोटोप के उत्पादन एवं रिएक्टरों को होने वाली क्षति का अध्ययन किया जाता है



Other Nuclear / Science Research Centres in India

* राष्ट्रीय विज्ञानं संस्थान, नई दिल्ली 

* राष्ट्रीय विज्ञानं अकादमी, प्रयागराज 

* केंद्रीय अनुसन्धान संसथान, कौसानी 

* भौतिकी अनुसन्धान प्रयोगशाला, अहमदाबाद 

* टाटा सैद्धांतिक अनुसन्धान संस्थान, मुंबई

* भौतिकी अनुसन्धान केंद्र, मुंबई 

* साहा नाभिकीय भौतिकी संस्थान, कोलकाता 

* भारतीय कैंसर अनुसंधान प्रयोगशाला, गुलमर्ग 

* हाई एलटीट्यूड रिसर्च लैब, गुलमर्ग 

* भूकम्पीय अनुसंधान केंद्र, गौरीविदानूर, कर्नाटक 

* परमाणु अनुसंधान केंद्र JNU 

* यूरेनियम कारपोरेशन केंद्र JNU 

* परमाणु ऊर्जा निगम, मुंबई 

* परमाणु अनुसन्धान प्रयोगशाला, श्रीनगर


Related Organizations

NPCIL -

न्यूक्लियर पावर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (NPCIL) भारत सरकार के परमाणु ऊर्जा विभाग (DAE) के प्रशासनिक नियंत्रण में एक सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम है। 



कंपनी को कंपनी अधिनियम, 1956 के तहत सितंबर 1987 में एक सार्वजनिक लिमिटेड कंपनी के रूप में पंजीकृत किया गया था, जिसका उद्देश्य भारत सरकार की योजनाओं और कार्यक्रमों के तहत बिजली उत्पादन के लिए परमाणु ऊर्जा संयंत्रों के संचालन और परमाणु ऊर्जा परियोजनाओं को लागू करना था।



NPCIL परमाणु ऊर्जा रिएक्टरों के डिजाइन, निर्माण, कमीशन और संचालन के लिए जिम्मेदार है। NPCIL एक MoU साइनिंग, प्रॉफिट मेकिंग और डिविडेंड पेमेंट कंपनी है| जिसकी क्रेडिट रेटिंग उच्चतम (CRISIL और CARE द्वारा AAA रेटिंग) है। 



एनपीसीआईएल वर्तमान में 6780 मेगावाट की स्थापित क्षमता के साथ 22 वाणिज्यिक परमाणु ऊर्जा रिएक्टरों का संचालन कर रहा है।

Post a Comment

If you have any doubt please let me know.

Previous Post Next Post